ई-वॉलेट(E-Wallet) kya होते हैं ??

ई-वॉलेट(E-Wallet)


E- Wallet क्या है ?


ई-वॉलेट पैसे रखने वर्चुअल पर्स है, जिसमे आप अपने लिए खरीदारी कर सकते है या सेवाओं(services) का भुगतान(payment) कर सकते है| इसे खरीदारी से पहले मोबाइल की तरह ही रिचार्ज किया जाता है| इससे खरीदारी के लिए अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड के रिकॉर्ड की जानकारी देने की जरूरत नहीं होती है|


ई-वॉलेट के प्रकार


रिज़र्व बैंक के अनुसार तीन तरह के वॉलेट होते है|

1)बंद वॉलेट(closed wallet)
2)आधा बंद वॉलेट(semiclosed wallet)
3)खुला वॉलेट(open wallet)



1) बंद वॉलेट(closed wallet)


बंद वॉलेट मे आप किसी विशेष कंपनी के उत्पादों(products) या सेवाओं(services) को खरीद सकते है| इसमें नकदी (in cash) निकालने की सुविधा नहीं मिलती | ई-कॉमर्स कंपनिया जैसे-फ्लिपकार्ट,जाबान्गॅ, और मेकमाइट्रिप.कॉम क्लोज्ड वॉलेट की पेशकश करती है| इसमें एक बार खरीदारी के बाद यदि आप वस्तु वापिस देते है तो पैसे आपके वॉलेट मे दे दिया जाता है|



2) आधा वॉलेट(semi closed wallet)


रिज़र्व बैंक के अनुसार इस वॉलेट के जरिए सामान और सेवाओं की खरीदारी के साथ ही वित्तीय(Financial) सेवाओं का भी भुगतान किया जा सकता है, जिसकी सूची पहले से तय कर दी जाती है| इस तरह के वॉलेट मे भी नकदी(in cash) निकालने की सुविधा नहीं होती |


3) खुला वॉलेट(open wallet)

इसमें खरीदारी और वित्तीय(Financial) सेवाओं के भुगतान के साथ-साथ नकदी (in cash) की भी सुविधा होती है| इसमें एटीएम(ATM) से नकदी (in cash) निकाली जा सकती है| इस तरह वॉलेट बैंक जारी करता है| उदाहरण के लिए दूरसंचार कंपनी(Telecom Company) वोडाफ़ोन(Vodafone) का खुला वॉलेट ऍम-पैसा है, जो आईसीआईसीआई(ICICI) बैंक की  साझीदारी मे पेश किया गया है|



किस वॉलेट मे फायदा(Benefit)


बंद वॉलेट के अनुसार उपभोक्ता किसी विशेष कंपनी की वेबसाइट से खरीदारी कर सकता है| इस तरह वॉलेट से जब आप खरीदारी करते है तो यह पैसा आपके वॉलेट से निकलकर कंपनी के राजस्व मे जुड़ जाता है| यदि आप जाबान्गॅ पर किसी सामान को वापिस करते है तो दो विकल्प(option) दिए जाते है| एक- उपभोक्ता अपना पैसा वापिस ले सकता है और दूसरा- उपभोक्ता के जाबान्गॅ अकाउंट मे पैसे भेज दिए जाते है| इसी तरह आधा बंद  वॉलेट मे भी उपभोक्ता के पड़े पैसो पर बहुत कम ब्याज(interest) मिलता है, लेकिन खुले वॉलेट मे यह इस बात पर निर्भर है की बैंक और भुगतान कंपनी के बीच क्या अनुबंध है| खुले वॉलेट मे बैंक वैधानिक संस्था होती है जो इसे चलाती है जबकि इसकी देखभाल करने करने वाली भुगतान कंपनी होती है|



यहा करे इस्तेमाल

ऑनलाइन ग्रोसरी स्टोर


इस तरह के स्टोर ई-वॉलेट की सुविधा प्रदान करते है| इसमें पैसो की सीमा 10,000 रुपये तक हो सकती है, जो अलग-अलग वेबसाइट के लिए भिन्न-भिन्न हो सकती है|


बिल भुगतान


इससे आप बिजली, फ़ोन, मोबाइल, जैसे उपयोगी बिलों का भुगतान कर सकते है| इससे सिनेमा की टिकटों की भी खरीदारी की जा सकती है|


मोबाइल पर वॉलेट


एयरटेल मनी ने ई-वॉलेट को पूरी तरह बदलकर रख दिया है| इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे रिचार्ज कराने पर एयरटेल उपभोक्ता को फुल टॉकटाइम मिलता है|



सावधानियाँ(precaution)


इसके पासवर्ड को सुरक्षित रखना चाहिए, इसे कही लिखें नहीं क्योंकि यदि यह किसी के हाथ लग जाता है तो वह आपका वॉलेट का इस्तेमाल कर सकता है| साथ ही याद रखें कि हर वॉलेट मे रिफंड की सुविधा नहीं होती | इसमें खरीदारी पर मिले अंको को सिर्फ दूसरी खरीदारी पर ही भुना सकते है|

Here we share about E-wallet full information in hindi

Post a Comment

[blogger]

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

2016-2017. Powered by Blogger.